गोलियों के तड़तड़ाहट ,मतों की हेराफेरी ,प्रशासनिक मनमानी एव पदीय शक्तियों के दुरूपयो के साथ बिहार राज्य के औरंगाबाद जिले में प्रारंभ हुआ त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव एव मतगणना का कार्य

गोलियों के तड़तड़ाहट ,मतों की हेराफेरी ,प्रशासनिक मनमानी एव पदीय शक्तियों के दुरूपयो के साथ बिहार राज्य के औरंगाबाद जिले में प्रारंभ हुआ त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव एव मतगणना का कार्य

औरंगाबाद(बिहार) प्रथम चरण का चुनाव में ईट का जबाब गोली और गोली के जबाब ईट से देने का है दावा, प्रशासन व जनता तथा जनप्रतिनिधियों में जमकर हुआ मारपीट व पथराव, प्रशासन सहीत कई लोग गंभीर रूप से घायल, जनता व जनप्रतिनिधियों पर जमकर ढ़ाहा गया जूल्म की कहर।

प्रथम और द्वितीय चरण के मतगणना में भी प्रशासनिक मनमानी व पदीय शक्ति के दुरूपयोग तथा मतो का हेराफेरी का है आरोप,

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2021 के अस्तित्व परऔरंगाबाद जिले में खतरा, अभी तक संकट का छाया हुआ है बादल, जिसकी लाठी उसकी भैंस कहावत हैं आज भी हैं चरितार्थ , आखिर जबाबदेह कौन ?

प्रत्याशियों के हराने और जिताने, मतों का हेराफेरी, पत्रकारों को मतगणना से वंचित रखने, गैर मान्या प्राप्त पत्रकरो को प्राधिकार पत्र बनाने में जिला प्रशासन व संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों पर पदीय शक्ति के दुरूपयो का लगा आरोप। 

आरोपों की शिलशिला है जारी , थमने का नाम नहीं ले रहा है,पदीय शक्तियों के दुरूपयोग तथा प्रशासनिक मनमानी का मामला, लूटेरे वर्ग सह कथित पत्रकार सरेआम पत्रकारों के मोबाईल पर दे रहे हैं धमकी।

मान्यता व गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों का त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में प्राधिकार पत्र बनाने का जिला प्रशासन द्वारा जारी खेल का ,एक- एक कर ,धीरे- धीरे खुलते जा रहे हैं राज्य। जिला प्रशासन ने मनमानी के लिए पत्रकारों को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में प्राधिकार पत्र से रखा वंचित और चहेते गैर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव मे दिया है प्राधिकार पत्र

मतगणना के पश्चात  बेला पंचायत के मुखिया प्रत्याशी, सुनैना देवी ने अपने समर्थकों के साथ "उसी दिन" देर रात को जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकिरी औरंगाबाद के आवास का किया था घेराव, कई गंभीर आरोप, दूसरे चरण के मतगणना में भी  मतों का हेराभेरी का हैं आरोप।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी औरंगाबाद सहित संबंधित पदाधिकारियों पर कई गंभीर आरोप , पंचायत चूनाव में  मनमानी व पदीय शक्ति का दुरूपयो खुल कर आ रहे हैं सामने, मनमानी व पदीय शक्तियों का दुरूपयो का मामला हैं अंतिम प्रकाष्ठा पर!

बिहार राज्य के औरंगाबाद जिले मे 24 सितंबर 2021 को प्रथम - चरण - पंचायत - चुनाव संपन्न होने के बाद 26 सितंबर 2021 को जिले किशोरी सिन्हा महिला महाविद्यालय में मतगणना प्रारंभ हुआ तथा मतों की हेराफेरी व प्रशासनिक मनमानी के तहत प्रत्याशियों का परिणाम घोषित किया गया ,जिससे प्रत्याशी समेत समर्थकों में कौतुहल मच गया और मतगणना के पश्चात "उसी दिन" देर रात्रि में बेला पंचायत के मुखिया प्रत्याशी, सुनैना देवी एवं इनके समर्थकों ने जिला .निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी  औरंगाबाद के आवास को घेराव करते हुए प्रशासन पर गैर कानूनी तरीको से मुखिया प्रत्याशी सुनैना देवी को हराने और हारे हुए प्रत्याशी को मुखिया पद पर विजय घोसित कर देने का आरोप लगाया तथा निष्पक्ष रूप से री काउंटिंग कराकर हार जीत का परिणाम को पुन: घोषित करने का माँग किया । मुखिया प्रत्याशी ने मतगणना मे हेरा फेरी व मनमानी का आरोप बीडीओ सहीत जिला प्रशासन पर लगाया है।  फिर भी  संवाद लिखे जाने तक री काउटिंग की सूचना कहीं से प्राप्त नहीं । 
दूसरे चरण का चुनाव 29  सितंबर 2021 को नवीनगर प्रखंड़ में हुआ था जिसका मतगणना 01 अक्टूबर 2021 को जिले के सिन्हा काँलेज औरंगाबाद में हुआ जिसमे घटनाओं की पुनरावृति को दोहराने का भी आरोप हैं ,
जिसकी सुनवाई संबंधित अधिकारियों ने नहीं किया । 

प्रत्याशियों, इनके प्रतिनिधियों व समर्थकों को कहना है 
 कि एबीएम मशीन मतगणना प्रारंभ होने के पहले नहीं दिखाया जाता है, जब एबीएम मशीन सामने सील हुआ तो प्रत्याशियों के सामने ही खुलना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ है, पहले से सभी टेबूल पर मतगणना का कागज तैयार  है, प्रत्याशियों को कांउटिंग हाँल मे घुसते ही 10 मीनटों में  बाहर निकाल दिया जाता है, सही से प्रत्याशी एवं इनके प्रतिनिधित्व करने वाले किसको कितना किस टेबूल पर मत मिला यह लिख भी नहीं पाते है और प्रशासन द्वारा बा जबर्दस्ती बाहर निकाल दिया जाता है। 
 प्रशासनिक अधिकारी जिसे चाहे रहे है,उसे  मुखिया प्रत्याशी को ही विजय घोषित कर दे रहे है, जो लोक तंत्र की हत्या है। जब प्रशासन को ही किसी को मुखिया बना देना है तो चुनाव आयोग एवं बिहार सरकार ने पंचायत चुनाव के प्रति इतना डुगडुगी ड्रामा क्यों किया है , ऐसी हलातो में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का महत्व ही क्या रह जाता है ।
वहीं  बेला ग्राम पंचायत के तेतरिया गाँव  से प्राप्त खबरों के अनुसार वार्ड सदस्य पद का चुनाव हारने के वाद वार्ड़ सदस्य अरूण कुमार साव द्वारा एक ही घर के अनेको परिवार पर जूल्म की कहर ढ़ाहा गया है, जिसमे एक घर के अनेको परिवार जखमी है। पुलिस के पहुँचने पर अरूण कुमार साव फरार हो गया। पीड़ितों को मुकदमा वापस नहीं लेने पर वार्ड़ सदस्य अरूण कुमार ने पीड़ितों के पुरे परिवार को एससी -एसटी एक्ट का मुकदमा में फसाने का धमकी भी दिया जा रहा है। संवाद दाता के कानों तक घटना का चितकार गुंज रहा था, यह घटना कल का बताया जाता है।


औरंगाबाद प्रखंड अंतर्गत नौगढ़ पंचायत के बिसेनी गांव  में महिला पुलिस दारोगा द्वारा हवाई फायरिंग का मामला बताया जाता! मतदान केन्द्र पर तैनात महिला दारोगा के संबंध में बताया जाता है कि महिला दारोगा मुखिया प्रत्याशी के पक्ष में गाँव के महिलाओं से मतदान करने का काम कर रही थी जिसके वजह से बवाल हुआ और मारपीट व  हवाई फायरिंग तथा पथराव की घटनाएं घटी। बताया जाता है कि विपक्षी पार्टी के मनचले युवको ने  प्रशासन पर पथराव किया है। वहीं जिला प्रशासन ने मुखिया पति द्वारा पुलिस पर फायरिंग तथा समर्थकों द्वारा पुलिस पर पथराव के बाद डियूटी पर तैनात पुलिस द्वारा हवाई फायरिंग की बात कहा गया है।

मुखिया प्रत्याशी के पति पर गोली फायरिंग के बाद *फेसर थाना क्षेत्र अंतर्गत उनथु मतदान केंद्र पर हुई थी झड़प ! 
 लेकिन चुनाव के दिन उनथु बूथ पर ड्यूटी में मौजूद प्रशासन व पीठासीन पदाधिकारी ने संवाददाता द्वारा पूछे जाने पर कहा था कि ऐसी कोई बात नहीं है! सिर्फ यहां के बारे में तिल का ताड़ बना दिया गया है! ड्यूटी में मौजूद प्रशासन ने कहा कि हम लोग गलत मतदान करने से रोक रहे थे! *यही मुख्य वजह था! प्रथम चरण का l1 काउंटिंग किशोरी सिन्हा महिला महाविद्यालय एवं द्वितीय चरण का काउंटिंग सच्चिदानंद सिंहा महाविद्यालय में हुआ है! उपरोक्त मतदान केन्द्र पर क्रमानुसार चुनाव का मतगणना एवं परिणाम घोषित होने की बाते बताई जा रही है
खबरों की पुष्टी और आरोपों की प्रतिउतर हेतू यह पोष्ट श्री मान के पास हैं प्रेषित, संबंधित पदाधिकारियो से प्रतिउतर का हैं प्रतिक्षा। वायर वीड़ियो का पुष्टी ब्यूरोचीफ द्वारा नहीं किया जाता है ।

फोटो नंबर 01 प्रथम चरण के मतदान व मतगणना से क्षुब्ध मुखिया प्रत्याशी सुनैना देवी व समर्थकों का डीएम आवास का घेराव करते वायरल वीडियो ।

फोटो नंबर 02  द्वितीय चरण के मतगणना से क्षुब्ध  प्रत्याशी के प्रतिनिधि का वायर वीड़ियो ।