तीन कृषि कानूनों की वापसी किसानों की ऐतिहासिक जीत-माले!

तीन कृषि कानूनों की वापसी किसानों की ऐतिहासिक जीत-माले!


- आरा में विजय जुलूस निकाला गया!
- अभी तो यह अंगड़ाई है आगे और लड़ाई है-सुदामा!


आरा।तीन नया कृषि कानून को वापसी लेने की वापसी की घोषणा पर आज भाकपा-माले,अखिल किसान भारतीय किसान महासभा व आइसा की ओर से आरा में विजय जुलूस निकालाकर बस स्टैंड में सभा आयोजित की गई!सभा की अध्यक्षता भाकपा-माले नगर सचिव दिलराज प्रीतम ने किया!


सभा को सम्बोधित करते हुए अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य व तरारी विधायक सुदामा प्रसाद ने कहा कि हम सभी जानते हैं कि साल भर से जारी किसानों के ऐतिहासिक संघर्ष के  सामने घमंडी तानाशाह मोदी को झुकना पड़ा है और किसान विरोधी तीनों कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा करनी पड़ी है!संसद से विधिवत इसकी वापसी अभी बाकी है!यह किसान संघर्ष की ऐतिहासिक जीत है!लेकिन अभी भी न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानूनी दर्जा देने,बिजली बिल वापस लेने,इस दौरान आंदोलनकारी किसानों पर हुए हजारों मुकदमों की वापसी 700 से ज्यादा शहीद किसानों के परिजनों को मुआवजा,केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी आदि मुद्दे यथावत हैं!यही वजह है कि संयुक्त किसान मोर्चा ने आंदोलन समाप्ति की घोषणा नहीं की है!आगे माले विधायक सुदामा प्रसाद ने कहा कि इसी दौरान हमलोगों ने बिहार में मंडियों की बहाली और मक्का, दलहन सहित तमाम फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू करने की मांग भी उठाई थी! बिहार सरकार ने धान,गेहूं की खरीद में छोटे किसानों के सामने अनेक तरह की विघ्न–बाधा खड़ी कर रखी है!इसे सरल करने की मांग हमलोग उठाते रहे हैं!बिहार सरकार ने उपरोक्त मुद्दों पर अभी तक कोई संतोषजनक कदम नहीं उठाया है!इसलिए इन मुद्दों पर आंदोलन जारी रखने की जरूरत है!बहरहाल,इस ऐतिहासिक जीत ने देश के संघर्षरत

व्यापक जनसमुदाय को बड़ा हौसला दिया है!सीएए,यूएपीए,चार श्रम कोड की वापसी और देश की सम्पदा बेचने पर रोक जैसे मुद्दे आज भी देश के लोकतांत्रिक व संघर्षशील जनमानस के सामने मौजूद हैं। इन सवालों पर लड़ाई को जीत तक ले जाने की चुनौती बरकरार है!विजय जुलूस में आइसा राज्य सचिव शब्बीर कुमार,
भाकपा-माले मुफ्फसिल प्रखंड सचिव विजय ओझा,जिला कमेटी सदस्य पप्पू कुमार,शोभा मंडल,आइसा जिला सचिव विकास कुमार,जिला अध्यक्ष सुशील यादव,कमलेश यादव,हरिनाथ राम,अमीत बंटी, सुरेश पासवान,हरेंद्र यादव,सुधीर कुमार,रमेश शर्मा,रौशन कुशवाहा,कृष्णरंजन गुप्ता,रंजन कुमार, बब्लू गुप्ता,कामता यादव,रमेश चौधरी,दीपक कुमार,त्रिलोक रजक आदि शामिल थे