Saturday, July 24, 2021
WhatsApp Image 2021-07-02 at 12.04.40 PM
IMG-20210702-WA0028
WhatsApp Image 2021-07-16 at 5.07.04 PM

तीसरे दिन बच्चों ने सीखा इम्प्रोवाइजेशन, ग्रुप बनाकर दी प्रस्तुतियाँ

रविंद्र भारती और ओ पी कश्यप ने तीसरे दिन थियेटर की बारीकियों को बताया

आरा(बोलता भोजपुर) रमना के दक्षिणी रोड में स्थित मंगलम दी वेन्यू में चल रहे अभिनव एवं ऐक्ट द्वारा आयोजित 20 दिवसीय नाट्य कार्यशाला के तीसरे दिन वरिष्ठ रंगकर्मी व निर्देशक रविन्द्र भारती ने बच्चों को अभिनय के प्रकार को बताया. उन्होंने सभी प्रकार के अभिनय को बच्चों को फीलिंग,ऑब्सरबेशन और रिकॉल के बारे में बताया. इन तीनो को कैसे एक व्यक्ति के अंदर विकसित किया जाय और फिर कैसे थियेटर में इसे यूज किया जाय इसको बताया. आज तरह-तरह के सिचुएशन को बता उसे तुरंत करने के लिए बच्चों को दिया गया जिसे बच्चों ने बड़े सहजता से किया और लगा जैसे परिपक्व अभिनेता इसे कर रहे हैं. जब बच्चों को जहाज हाईजैक का एक सीन करने को दिया गया तो उन्होंने इस तरह का आपस मे कोऑर्डिनेशन किया जैसे लगा सबने कई दिनों प्रैक्टिस किया हो. कोई आतंकी बन बैठे यात्रियों को डराया तो किसी ने उनके फोन से इसकी जिम्मेदारी ले सरकार को सूचित किया और किसी ने यात्रियों को इस डर के माहौल में डाक्टर बन इलाज करने की भूमिका निभाया.

युवा रंगकर्मी ओ पी कश्यप ने डिक्शन,अनुशासन, और वॉयस के वैरिएशन के बारे में बताया और उसको
विकसित करने के तरीकों के बारे में बताया. तीसरे दिन कार्यशाला में कई अतिथियो का भी आगमन हुआ जिन्होंने बच्चों के बीच अपने जीवन के अनुभव को शेयर किया. विवेकानंद पुरस्कार से सम्मानित मशहूर लोकनर्तक पुनेश पार्थ, लेखक राजेन्द्र शर्मा पुष्कर, रंगकर्मी-पत्रकार मंगलेश तिवारी और रोबोटिक टेक्नोलॉजी पर कार्य करने वाले लव कुमार ने आज नाट्य कार्यशाला में बच्चों के बीच अपने अनुभव शेयर किए. आये सभी अथितियों ने बच्चों के कार्य को सराहा और महा कि ऐसे कार्यशाला का होना बेहद जरूरी है. ऐसे कार्यशालाओं के जरिये कई नई प्रतिभाओं को निखारा जा सकता है. कार्यशाला का मैनेजमेंट मनोज श्रीवास्तव दिख रहे हैं.

ads

Related Articles