चाणक्या फाउंडेशन  में व्यक्तित्व विकास के लिए इंडक्शन एवं ओरिन्टेशन कार्यक्रम का हुआ आयोजन

चाणक्या फाउंडेशन  में व्यक्तित्व विकास के लिए इंडक्शन एवं ओरिन्टेशन कार्यक्रम का हुआ आयोजन

आरा।भोजपुर के कोईलवर में चाणक्या फाउंडेशन ग्रुप ऑफ इंटीच्यूट में प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों के लिए इंडक्शन एवं ओरिन्टेशन कार्यक्रम का आयोजित किया गया।कार्यक्रम का शुभारम्भ गणेश वंदना के साथ दीपप्रज्वलित कर कियाया गया।इसके बाद आयरन लेडी सह पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ,लक्ष्मीबाई एवं गुरुनानक की जयंती दिवस उन्हें पुष्पाजंलि कर उनके बताए रास्ते पर चलने का संकल्प लिया।वही कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्थान के चेयरमैन डॉ अशोक गगन के सभी विद्यार्थियों को चाणक्या फाउंडेशन ग्रुप ऑफ इंटीच्यूट चुनने की बधाई देते हुए एंन्टी रैगिंग, मोटीवेशन, लीडरशिप, कॉलेज पॉलिसी एवं पर्सनालिटी डवलपमेंट पर विस्तार पूर्वक चर्चा किए।

उन्होंने छात्रों से कहा कि एक अच्छा व्यक्ति बनने के लिए हमें खुद और समाज के प्रति ईमानदार होना चाहिए।उन्होंने अपील किया कि आप लोग उच्च शिक्षा पाकर अच्छे संस्कारी बनकर जॉब सीकर नही जॉब क्रिएटर बने।उन्होंने विद्यार्थियों से कहा की कड़ी मेहनत करे पूरा फेकल्टी का सहयोग मिलेगा।आपकी मेहनत से वो दिन दूर नही होगा की विश्व की नंबर वन के रूप में संस्थान की पहचान होगी।क्योंकि रोजगारपरक एवं गुणवत्तापूर्ण शिक्षा अपने बिहार प्रदेश में ही उपलब्ध कराना है चाणक्य फाउंडेशन ग्रुप का मुख्य लक्ष्य है।वही आयरन लेडी सह पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ,लक्ष्मीबाई एवं गुरुनानक की जयंती दिवस के अवसर उनके विचार ,सामाजिक त्याग पर विस्तार पूर्वक चर्चा करते हुए उनके बताए रास्ते पर चलने की बात कही।वही  संस्था सीईओ डॉ दिव्य ज्योति ने नवप्रवेशित विद्यार्थियों को कहा कि उच्च शिक्षा के क्षेत्र में कदम रखते ही लक्ष्य निर्धारण एवं अध्ययन के प्रति एकाग्रता एवं समर्पण से ही सफलता अर्जित की जा सकती है। उन्होनें तकनीकी शिक्षा के लिए महती आवश्यकता को बतलाते हुए संस्थान द्वारा इस दिशा में किए जा रहे निरंतर प्रयासो की चर्चा करते  हुए बच्चों को इसका लाभ उठाने की अपील की।वही डायरेक्टर डॉ अर्जुन सिन्हा,डायरेक्टर एन्ड एडमिनिस्ट्रेशन डॉ विवेक कुमार सिन्हा,प्रचार्य मीनू शुक्ला,पोलटेनिक इंचार्ज मृणाल आनंद, बीएड कॉलेज इंचार्ज रूमा झा आदि ने बच्चों को बताया कि जिंदगी में सफलता हासिल करने के लिए बच्चों का सर्वपक्षीय विकास होना जरूरी है। इसलिए इस इंडक्शन प्रोग्राम का आयोजन किया गया, जिससे बच्चों को पता चल सके कि उन्होंने किस तरह से कॉलेज में उपलब्ध सुविधाओं का प्रयोग करके अपने व्यक्तित्व का विकास करना है। साथ ही कैसे भटकाव की स्थिति से बचना चाहिए। उन्होंने बच्चो को बताया की आधुनिक तकनीक का आदि नहीं होना है। इसका सदउपयोग करते हुए अपना सर्वागीण विकास करना चाहिए। साथ ही निदेशक प्रशासन डॉ विवेक कुमार सिन्हा ने कहा कि किसी भी संस्थान मे वैवशायिक कोर्स के लिए विद्यर्थियों को एक अलग तरह की तैयारी करनी होती है क्योंकि वैवशायिक शिक्षा का एक अलग उद्देश्य होता हैं इन कोर्सेज को पूर्ण करने के बाद प्रत्येक विद्यार्थी से यह उम्मीद की जाती हैं कि वह अपने व्यवशायिक लक्ष्यों को अच्छी तरह प्राप्त कर पाएं और अपना तथा संस्थान का विकास कर पाए, वैवशायिक शिक्षा के इसी उद्देश्य के साथ आज इस प्राँगण में ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन किया गया जिससे इस

वैवशायिक शिक्षा के इन मूलभूत उद्देश्यों को प्राप्त किया जा सके तथा प्रत्येक विद्यार्थी अपने-अपने संस्थानों में जहाँ भी वह भविष्य में काम करेंगे यह स्थापित कर सके कि हमारे विभिन संस्थानों में वैश्विक स्तर की शिक्षा एवं सोच प्रदान की जाती हैं। ।कार्यक्रम का संचालन फैजान अहमद अलवीना एवं सोनाली कुमारी एवं धन्यवाद ज्ञापन कैम्पस कॉर्डिनेटर किरण कुमारी ने किया। इस मौके पर राजकिशोर, मोहम्मद गाज़ी, अमरेन्द्र कुमार, प्रभात कुमार, आनंद प्रकाश, पिंटू कुमार,मनोज कुमार,मतिष पाठक,अजित कुमार इत्यादि उपस्थित थे।