प्रेम प्रसंग में हुई थी युवक की हत्या,दो गिरफ्तार

प्रेम प्रसंग में हुई थी युवक की हत्या,दो गिरफ्तार

बक्सर. बक्सर पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है.  पुलिस ने दिव्यांग हत्याकांड का खुलासा कर लिया है. जहां दिव्यांग की हत्या उसके छोटे भाई ने जमीन नही मिलने पर और प्रेम प्रसंग को लेकर अपने साथियों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया था. पुलिस ने उसके छोटे भाई और एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.  गिरफ्तार युवक फफदर गांव का रहने वाला ओम प्रकाश उर्फ छोटु और औरंगाबाद का रहने वाला बन्नी उर्फ बनवारी बताया जाता है. ये उक्त बातें एसपी नीरज कुमार सिंह ने सोमवार को एसपी कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान कही.  उन्होंने ने बताया कि 30 मार्च को वैश्य गांव का रहने वाला रवि सिंह उर्फ रविकांत अपनी दुकान बंद कर अपने घर जा रहा था. इसी बीच फफदर गांव के गेट के समीप ईट-पत्थर से कूच कर उसको हत्या कर दी गई और उसके शव को एक कुएं में फेंक दिया गया. वही परिजनों की तरफ से दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया.पुलिस ने मामले के जांच के दौरान पाया कि मृतक का भाई छोटू उर्फ ओम प्रकाश सिंह और फफदर गांव का रहने वाला मुन्ना सिंह ने घटना को अंजाम दिया है. इसके बाद पुलिस ने दोनों के घर छापेमारी की, जहां पुलिस ने 30 मई को  मुन्ना सिंह को गिरफ्तार कर लिया. जबकि छोटू से भागने में सफल रहा है. पुलिस ने जब मुन्ना से पूछताछ किया तो मुन्ना ने पुलिस को बताया कि छोटू का अपने बड़े भाई रवि सिंह के साथ जमीन को लेकर विवाद चल रहा था. छोटू अपने ही पास के गांव की रहने वाली एक लड़की के साथ प्रेम प्रसंग था. वह लड़की को लेकर पटना में कहीं रहता था. वह चाहते थे कि अपने हिस्से की जमीन बेचकर यहां से चला जाना चाहता था.  जब जब वह रवि सिंह से अपनी जमीन की मांग करता तो रवि सिंह  इसका विरोध करता है. जब जमीन नही मिला तो वह रवि सिंह की हत्या करने की योजना बनाने लगा. इसके बाद छोटू ने मुन्ना और बनवारी से संपर्क किया कि रवि सिंह को रास्ते से हटाना है. इसमें मेरा साथ दो इसके लिए मैं तुम्हें पैसे भी दूंगा. जिसपर मुन्ना तैयार हो गया. इसके बाद 28 मार्च को छोटू ने मुन्ना को चौगाईं खेल मैदान में बुलाया. जब मुन्ना पहुंचा तो देखा कि छोटू के साथ एक दो व्यक्ति है. जिसमें एक का नाम बन्नी कुमार और दूसरे को नहीं जानता था. जहां सभी ने हत्या की योजना बनाई. इसके बाद 30 मार्च को जब रवि कुमार अपनी दुकान बंद कर घर अपनी बाइक जा रहा था. तब मुन्ना ने उसे फफदर गांव के गेट पर रोका और बात करने लगा. इसके बाद छोटू सिंह ने पीछे से आकर रवि के सिर पर लाठी-डंडे से वार कर दिया. जिसमें रवि बेहोश होकर गिर गया. इसके बाद छोटू, मुन्ना, बन्नी और एक अन्य युवक ने मिलकर उसे घसीटते हुए एक कुएं के पास ले गए और पहले उसके शरीर को ईट-पत्थर से कूच दिया.साथ ही चाकू से भी मार दिया.इसके बाद सभी ने उसे कुएं में फेंक दिया और सभी अपने घर भाग निकले. इसके बाद पुलिस ने छोटु और बन्नी की गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी शुरू किया. जहां रविवार की रात सूचना मिली कि छोटू और बन्नी बक्सर स्टेशन पर है.  सूचना मिलते ही पुलिस ने छापेमारी की और दोनों को गिरफ्तार कर लिया. जहां दोनों ने घटना को अंजाम देने की बात कबूला. मौके पर डुमराँव एसडीपीओ श्री राज, मुरार थानाध्यक्ष मनोरंजन प्रसाद समेत कई लोग मौजूद थे.