रामलीला के चौथे दिन किया गया सीता स्वयंवर का आयोजन

रामलीला के चौथे दिन किया गया सीता स्वयंवर का आयोजन
 आरा (भोजपुर)। नगर रामलीला समिति के तत्वावधान में आयोजित दस दिवसीय रामलीला के चौथे दिन का उद्घाटन किया गया।रविवार के उद्घाटनकर्ता व मुख्य अतिथि डॉ अभिनित कुमार , रोहित सिंह सनोज कुमार , नीरज सोनी उमाशंकर सिंह उर्फ मिठाई लाल  व रामलीला समिति के अन्य पदाधिकारियों ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया।आज वाराणसी के प्रसिद्ध रामलीला मंडली द्वारा धनुष यज्ञ धनुष भंग परशुराम संवाद की मनोरम प्रस्तुति की गई।जहाँ लक्ष्मण जी व परशुराम जी में तीखे संवाद हुए वहीं।मंच पर राजा जनक के आकर्षक दरबार का में जनक की पुत्री सीता शिव धनुष का पूजन करती हैं। जनक सीता स्वयंवर के लिए शिव धनुष की प्रत्यंचा चढ़ाने की शर्त रखते हैं। इस पर अनेक राजा प्रयास करते हैं लेकिन कोई धनुष हिला नहीं पाता। अंत में गुरु की आज्ञा पर श्रीराम ने धनुष की प्रत्यंचा चढ़ाकर उसे खींच दिया इससे धनुष टूट गया। धनुष टूटते ही मंच के चारों ओर खुशी में पटाखे फूटने लगे।ढोल-नगाड़ा बजाकर खुशी मनाई गई। पुष्पवर्षा के बीच सीता ने श्रीराम के गले में वरमाला डाली और दर्शकों ने श्रीराम व सीता पर पुष्पवर्षा करते हुए श्रीराम व सीता की जय का उद्घोष कर खुशी व्यक्त की। इसकी सूचना अयोध्या नरेश को भेजी गई।

मंच संचालन अधिवक्ता दिलीप कुमार गुप्ता व धन्यवाद ज्ञापन मदन प्रसाद ने किया।इस अवसर पर संरक्षक राम जी प्रसाद कोषाध्यक्ष मदन प्रसाद उपाध्यक्ष  अधिवक्ता दिलीप कुमार गुप्ता शंभु नाथ केशरी सन्नी शाहबादी  सह सचिव विष्णु शंकर मीडिया प्रभारी पर्यावरण प्रेमी  आनंद कुमार  राजीव रंजन प्रिंस सिंह मेजर राणा प्रताप राजेश कुमार  अविनाश प्रसाद मुन्ना सोनी गौतम कुमार राजा , सुनिल कुमार , संतोष सोनी  सुनील आनंद डीके कश्यप आदित्य सिंह बुटाई जी सहित बड़ी संख्या में शहर के गणमान्य लोग उपस्थित थें