कोरोनाकाल में मरे हुये लोगों के बच्चों व परिवारों तक पहुंचाई जा रही है राहत सामग्री किट

कोरोनाकाल में मरे हुये लोगों के बच्चों व परिवारों तक पहुंचाई जा रही है राहत सामग्री किट

- उप विकास आयुक्त ने कलेक्ट्रेट परिसर से हरी झंडी दिखाकर वाहनों को किया रवाना
- राहत सामग्री किट के वितरण के लिये विभिन्न इलाकों के 823 परिवारों की सूची की गई है तैयार 

बक्सर | कोविड-19 की महामारी से पूरा देश पिछले 2 वर्ष से प्रभावित हुआ है। कई परिवारों में बच्चों के सिर से माता, पिता या फिर दोनों अभिभावकों का साया उठ गया। ऐसे में राज्य सरकार के समाज कल्याण विभाग एवं केयर इंडिया ऐसे परिवारों के बच्चों की सुरक्षा व उन तक सुविधा पहुंचाने का काम कर रही है। इसके लिये समाज कल्याण विभाग एवं केयर इंडिया के प्रतिनिधियों ने एक सर्वे किया था। जिसके उपरांत जिले के विभिन्न इलाकों के 823 अनाथ बच्चों व परिवारों की सूची तैयार की गई है। इन बच्चों को तात्कालिक राहत के रूप में समाज कल्याण विभाग एवं केयर इंडिया द्वारा राहत सामग्री किट उपलब्ध कराई जा रही है। जिसकी शुरूआत शनिवार को कलेक्ट्रेट परिसर से की गई। जिलाधिकारी अमन समीर के मार्गदर्शन में उप विकास आयुक्त डॉ. योगेश सागर, आईसीडीएस की डीपीओ तरणि कुमारी एवं केयर इंडिया के डीटीएल ने हरी झंडी दिखाकर अनाथ हुये बच्चों को राहत सामग्री किट प्रदान करने के लिए वाहन को रवाना किया। मौके पर पीएमवीवाई के डीसी चंदन कुमार व राष्ट्रीय पोषण मिशन के डीसी महेंद्र कुमार उपस्थित रहे।

पांच व उससे कम सदस्य के परिवार को दिया जायेगा एक किट :
आईसीडीएस की डीपीओ तरणि कुमारी ने बताया, कोरोना काल में जिन बच्चों ने अपने माता, पिता या दोनों को खोया है, उनको समाज कल्याण विभाग एवं बिहार सरकार की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से जोड़ा जाएगा। जिसके लिये आंगनबाड़ी केंद्रों के स्तर से सर्वे किया गया था। जिले के सभी प्रखंडों में से ऐसे 823 परिवारों को चिन्हित किया गया था। जिनको राहत सामग्री किट उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होंने बताया, पांच अथवा उससे कम परिवार के सदस्यों को एक राहत सामग्री किट तथा पांच से अधिक परिवार वाले सदस्यों को दो राहत सामग्री किट उपलब्ध कराई जा रही है। 

एक किट में मौजूद हैं जरूरत के सारे सामान :
केयर इंडिया के डीटीएल आशिष कुमार द्विवेदी ने बताया, चिन्हित परिवारों को दिये जाने वाले एक किट में जरूरत के सारे सामान मौजूद हैं। एक किट के अंदर ब्रांडेड कंपनी के आटा और चावल के पांच-पांच किग्रा के पैकेट, मसूर दाल दो किग्रा, चना दो किग्रा, सत्तू दो किग्रा, सरसो तेल दो किग्रा, चिनी दो किग्रा, किचन किंग मसाले के दो पैकेट, दो नहाने के साबुन, एक किग्रा डिटर्जेंट, 100 टॉफियां तथा आधा किग्रा बिस्कुट पैक किया गया है। यह सारे सामान एक परिवार की जरूरतों को देखते हुये दिये जा रहे हैं। ताकि, चिन्हित परिवारों के बच्चे अपने आप को असहाय न समझें।