लोगों को हर छह महीने में अपने शरीर की सभी जांच करानी चाहिए : डॉ. सुधीर कुमार

लोगों को हर छह महीने में अपने शरीर की सभी जांच करानी चाहिए : डॉ. सुधीर कुमार

- सदर पीएचसी में दूरस्थ स्वास्थ्य जांच शिविर का हुआ आयोजन
- लोगों की स्वास्थ्य जांच करने के बाद दी गई दवाइयां और परामर्श

बक्सर | जिला मुख्यालय स्थित सदर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में शनिवार को राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत विशेष दूरस्थ स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें शहरी व ग्रामीण इलाकों से आयें लोगों को स्वास्थ्य उपलब्ध कराने को लेकर स्वास्थ्य जांच एवं परामर्श दिया गया। शिविर में संचारी रोग, गैरसंचारी रोग, कालाजार, एएनसी जांच, टीकाकरण, परिवार नियोजन के साथ-साथ कोविड- 19 की सेवाओं के बारे में जानकारी दी गई। शिविर का उद्घाटन सदर प्रखंड के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. सुधीर कुमार ने किया। इस दौरान उन्होंने कहा, जिस तरह से पर्यावरण और वातावरण प्रदूषित होते जा रहे हैं साथ ही, भोजन में मौजूद केमिकल्स के कारण लोगों में बीमारियों का खतरा भी बढ़ता जा रहा है। इनसे बचने के लिए सभी लोगों को हर छह महीने में अपने शरीर की सभी जांचें करानी चाहिए। लेकिन, स्लम इलाकों व गरीब लोग जांच कराने में कतराते हैं, इसी उद्देश्य से राज्य स्वास्थ्य समिति समय समय पर जांच शिविर लगाने का निर्णय लेती है। ताकि, समाज के अंतिम व्यक्ति तक इलाज की सुविधा पहुंचाई जा सके। मौके पर डॉ. अली आरिफ, डॉ. स्वाति भारती, डॉ. आशुतोष पांडेय, एएनम में विद्या कुमारी, अनुपम कुमारी, रिंकु कुमारी के अलावा बीएचएम सुशील कुमार,  केयर के राकेश कुमार, लैब टेक्निशियन राकेश कुमार मौजूद रहें।

लोगों तक समुचित स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई गई :
सदर प्रखंड के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. सुधीर कुमार ने बताया,  राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत शहरी इलाके में 10 स्थानों पर विशेष दूरस्थ स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया जा रहा है। जिसके तहत सदर पीएचसी परिसर में आयोजित किया गया। जहां शिविर में लोगों को चिकित्सीय सलाह, एनसी चेकअप, गर्भवती महिलाओं के लिए परिवार नियोजन की सलाह, योग्य दंपत्ति को एवं अन्य सुविधाएं दी गई ताकि शहर के सभी लोगों तक समुचित स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई गई। उन्होंने बताया, स्वास्थ्य कैंप का उद्देश्य राष्ट्रीय सहरी स्वास्थ्य मिशन के तहत शहरी क्षेत्रों के पिछड़ा बस्ती में रह रहे अंतिम व्यक्ति तक स्वास्थ सुविधाओं को जोड़ना है।

शिविर के 1 दिन पूर्व आशा कार्यकर्ताओं ने लोगों को किया जागरूक :
बीसीएम प्रिंस कुमार ने बताया, स्वास्थ्य समिति के निर्देशों के तहत जिस क्षेत्र में स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया जाएगा, उसके एक दिन पूर्व आशा कार्यकर्ता क्षेत्र भ्रमण कर लोगों को शिविर में आने के लिए आमंत्रित करेंगी। साथ ही, स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में जानकारी देंगी व अधिक से अधिक लोगों को शिविर में लाने के लिए प्रेरित करेंगी। इसके लिए चिकित्साकर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। उन्होंने बताया, इसके बद भी जिला मुख्यालय स्थित स्लम इलाकों और अन्य पिछड़े इलाकों में भी शिविर का आयोजन किया जायेगा। ताकि, कोई भी जरूरतमंद व्यक्ति इलाज व सरकारी सुविधाओं का लाभ पाने से वंचित न रह जाये।