कंगारू मदर केयर बच्चों के लिए वरदान, ठंड में उनकी निमोनिया से करेगा रक्षा

कंगारू मदर केयर बच्चों के लिए वरदान, ठंड में उनकी निमोनिया से करेगा रक्षा

- केएमसी में माता या पिता द्वारा नवजात को सीने से लगाकर शरीर की गर्मी प्रदान की जाती है
- आशा कार्यकर्ता गृह भ्रमण के दौरान माताओं को शिशुओं की देखरेख की देती हैं सलाह
आरा | जिले में प्रतिदिन ठंड बढ़ती जा रही है। सर्दी के मौसम में बच्चों में संक्रमित बीमारियों के प्रसार व उसके चपेट में आने की संभावना अधिक बढ़ जाती है। बदलते मौसम में उनकी विशेष देखभाल की जरूरत होती है। बदलते मौसम में बच्चों खासकर नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना आवश्यक है। जरा सी लापरवाही उनको बीमार कर सकती है और ठंड से निमोनिया जैसी बीमारी होने का खतरा पैदा हो जाता है। ऐसे में ठंड को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग भी लोगों को जागरूक करने में लगा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग नवजात शिशुओं की उचित देखभाल के लिए गर्भवती व प्रसूता महिलाओं तक संदेश पहुंचा रहा है। ताकि, ठंड के दौरान बच्चों के पालन में माताओं को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

कंगारू मदर केयर एक प्रभावी उपाय :
अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. केएन सिन्हा ने बताया, अब स्वास्थ्य विभाग द्वारा कई सुविधाएं व योजनाएं संचालित किये जा रहे हैं। जिनकी मदद से नवजातों की देखभाल करने में महिलाओं को कोई परेशानी नहीं होगी। साथ ही, घर पर ही नवजातों का इलाज आसानी से उपलब्ध होगा। इसके लिए कंगारू मदर केयर एक प्रभावी उपाय है। जिसमें माता या पिता द्वारा नवजात को सीने से लगाकर शरीर की गर्मी प्रदान की जाती है। उन्होंने बताया, जन्म के बाद शिशु के शरीर के तापमान को निरंतर नियंत्रित करने की जरूरत होती है। शरीर के तापमान का अचानक गिर जाना भी शिशु के लिए जानलेवा हो सकता है। इसे चिकित्सकीय भाषा में हाइपोथर्मिया कहा जाता है। ठंड के मौसम में नवजात को हाइपोथर्मिया का खतरा अधिक रहता है। इससे बचाव के लिए कंगारू मदर केयर एक सरल एवं प्रभावी उपाय है। 

कंगारू मदर केयर से कमजोर बच्चे का वजन बढ़ता है :
उन्होंने बताया, कंगारू मदर केयर से शिशु को गर्माहट मिलती है। साथ ही, कम वजन वाले नवजात के वजन में भी बढ़ोतरी होती है। कमजोर नवजात शिशुओं की लगातार ट्रैकिग कर कंगारू मदर केयर अपनाने के बाबत परिवार से जानकारी ली जाती है। यदि वे ऐसा नहीं कर रहे हो तो उन्हें इसके फायदे के बारे में बताया जाता है। कंगारू मदर केयर से कमजोर बच्चे का वजन बढ़ता है। उन्होंने बताया, आशा कार्यकर्ता गृह भ्रमण के दौरान प्रसूताओं को कंगारू मदर केयर विधि के बारे में बताती हैं। इस मौसम में शिशु के शरीर का तापमान स्थिर रखने और ठंड से बचाने के लिए उसे सीने से कुछ देर तक लगाकर रखना चाहिए। आशा घर-घर जाकर महिलाओं को बच्चों की देखरेख का तरीका बताती हैं। साथ ही, शिशुओं को ठंड से किस तरह बचाया जाए, इसके बारे में जानकारी दी जाती है।