बदलते मौसम में सर्दी खांसी होना लाजमी, लेकिन कोरोना के लक्षण पहचान कराएं जांच

बदलते मौसम में सर्दी खांसी होना लाजमी, लेकिन कोरोना के लक्षण पहचान कराएं जांच

• कोरोना के लक्षण दिखने के बाद लापरवाही बरतना दे सकता परेशानियों को न्योता
• बीमार पड़ने पर डॉक्टर की बताई दवा लें, सावधानी बरतें

आरा | जिले में फिलहाल मौसम में लगातार उतार चढ़ाव जारी है। बीते दिनों जिले में बारिश भी हुई, वहीं कुछ इलाकों में ओलावृष्टि से लोग परेशान रहे। जिसके कारण लोगों में मौसमजनित बीमारियों के लक्षण ज्यादा देखने को मिल रहे हैं। इस मौसम में सर्दी-खांसी या फिर बुखार होना आम बात है। लेकिन, जिले में बढ़ते कोरोना के मामलों को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। दिन-प्रतिदिन कोरोना के नए मामले भी सामने आने लगे हैं। ऐसे में सर्दी-खांसी या फिर बुखार होने पर लोगों को तत्काल कोरोना जांच कराना चाहिए। कोरोना के लक्षणों को नजरअंदाज करना या फिर उसे आम बीमारी समझना काफी घातक साबित हो सकता है। यदि लोग जिसे सर्दी-खांसी समझ रहे हैं, वो कोरोना निकला तो न सिर्फ मरीज को परेशानी होगी। वरन, लापरवाही के कारण परिवार अन्य सदस्य व आसपड़ोस के लोगों के भी संक्रमित होने की संभावना बढ़ जाएगी। उससे दूसरे लोगों में भी कोरोना का प्रसार होगा।

संक्रमित मरीज के संपर्क में आने पर जांच जरूर कराएं :
अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. केएन सिन्हा ने बताया, सर्दी-खांसी और बुखार के अलावा कोरोना के और भी लक्षण हैं। नए शोधों के अनुसार अब तो बिना लक्षण वाले मरीज भी बहुत निकल रहे हैं। इसलिए लापरवाही नहीं करनी चाहिए। सिर्फ सर्दी, खांसी और बुखार ही नहीं, अन्य कोई परेशानी आने पर तत्काल डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। जांच के बाद डॉक्टर उचित सलाह और दवा देंगे, जिसका पालन और सेवन करते रहने चाहिए। उन्होंने बताया, अब जिले में फिर से कोरोना के मरीज सामने आ रहे हैं। ऐसे में जो व्यक्ति पॉजिटिव निकले, उसके संपर्क में रहने वाले लोग अपनी कोरोना जांच जरूर करवा लें। अगर लक्षण नहीं भी हो तो जांच कराएं। बिना लक्षण वाले भी कोरोना मरीज अभी मिल रहे हैं। जांच नहीं कराने पर अनजाने में कोरोना संक्रमण का प्रसार हो जाएगा, जो कि ठीक नहीं है। 

जल्द से जल्द लें टीका व गाइडलाइन का पालन करें :
डॉ. केएन सिन्हा ने बताया, जिले में काफी लोगों ने कोरोना का टीका ले लिया है। अब तो किशोरो और किशोरियों को भी टीका दिया जा रहा है। कोरोना से बचाव में दो सबसे कारगर हथियार है। एक सावधानी, दूसरा टीका। इसलिए कोरोना का टीका जिनलोगों ने अभी तक नहीं लिया है, वह देरी नहीं करें। साथ ही जिनलोगों का समय पूरा हो गया है, वह दूसरी डोज ले लें। जितना जल्द जिले के सभी लोग कोरोना का टीका ले लेंगे, उतना ही जल्द हमलोग कोरोना पर काबू पा लेंगे। उन्होंने कहा, सम्भावित तीसरी लहर को रोकने के लिए कोरोना की गाइडलाइन का सख्ती से पालन करना होगा। घर से बाहर जाते वक्त मास्क अनिवार्य तौर पर लगाएं। सामाजिक दूरी का पालन करते हुए दो गज की दूरी बनाए रखें। भीड़भाड़ में जाने से बचें। बेवजह घरों से भी निकलने से परहेज करें। बाहर से घर आने पर 20 सेकेंड तक हाथ की धुलाई अवश्य करें। ऐसा करते रहने से कोरोना से आपका भी बचाव होगा और आपसे दूसरे लोगों में भी संक्रमण नहीं होगा।