चुनाव चाहे कोई हो,आपस में भाईचारा, प्रेम रहना चाहिए बरकरार-नवीन सिंह

चुनाव चाहे कोई हो,आपस में भाईचारा, प्रेम रहना चाहिए बरकरार-नवीन सिंह

शिवसागर (रोहतास) त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जनता का आपस में भाईचारा और प्रेम बरकरार रहना चाहिए। शराब व अन्य प्रलोभनों से बरगलाने वाले उम्मीदवारों से जनता को सावधान रहना चाहिए उक्त बातें समाजसेवी नवीन कुमार सिंह ने कहा। उन्होंने और कहा कि इस समय बिहार राज्य में जोरों पर चल रही पंचायत चुनाव की प्रक्रिया चल रहा है। इसमें मतदाता अपने प्रत्याशी के पक्ष में मतदातान कराने के लिए वोट मांग रहे हैं जो वोट नहीं दे रहें हैं मनमुटाव कर रहे हैं। पंचायती चुनाव हो, चाहे पैक्स, विधानसभा या लोकसभा कुछ लोग मौके का फायदा उठाने की फिराक में रहते हैं। अपने स्वार्थ के लिए ऐसे लोग  धनबल, शराब, जातिवाद आदि का सहारा लेकर विजय होने की योजना बनाते है, जो न केवल लोकतंत्र के लिए घातक है बल्कि जनता के भाईचारे पर भी खतरा है। मात्र कुछ दिन अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए जनता के बीच आने वाला व्यक्ति यदि जनता का भाईचारा तोड़ने में कामयाब हो जाता है, जो हमारे आपसी भाईचारे के लिए नुकसानदायक है। इस समय पंचायत चुनाव को लेकर ऐसी राजनीति चल रही है, जो भाईचारे के लिए नुकसानदायक है। कुछ लोग अपने स्वार्थ सिद्ध करने के लिए एक जाति को दूसरी जाति का दुश्मन मान बैठते हैं। किसी भी जाति को अपना दुश्मन मानना कतई सही नहीं है क्योंकि सदियों से हम भाईचारा सलामत रखते आए हैं और उसे ही बरकरार रखना चाहिए। पंचायती चुनाव में ग्रामीण जनता को चाहिए कि वह किसी लोभ लालच में न पड़ें और उम्मीदवारों को अपने उपर हावी न होने दें। यदि कोई उम्मीदवार जनता को बरगलाने के लिए लोभ लालच देता है या जातिगत वैमनस्य फैलाने वाली बात करता है तो जनता को सबसे पहले उसे ऐसा करने से रोकना चाहिए। पंचायत राज संस्थाओं के चुनाव ग्रामीण विकास से सिधे जुड़े होते हैं और इन चुनावों में प्रत्याशियों का चुनाव ही ग्रामीण विकास का रास्ता प्रशस्त करता है। यदि जनता किसी लोभ -लालच में आकर गलत प्रत्याशी का चुनाव कर  लेती है तो इससे गांव व क्षेत्र का विकास प्रभावित हो सकता है। सबसे अच्छी एकता तों यही है कि ग्रामीण स्तर पर योग्य व्यक्तियों का सर्वसम्मति से चुनाव किया जाए।